लोको पायलट पर Rahul Gandhi के दावे पर बोले रेलमंत्री - गलत सूचनाएं फैलाई जा रही हैं

केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने लोको पायलटों की कामकाजी परिस्थितियों से जुड़ी चिंताओं पर कहा कि रेलवे को लेकर गलत सूचनाएं फैलायी जा रही हैं।

मंत्री ने कहा कि लोको पायलट रेलवे परिवार के महत्वपूर्ण सदस्य हैं। हमारे लोको पायलटों को हतोत्साहित करने के लिए विपक्ष द्वारा बहुत सारी गलत सूचनाएं फैलायी जा रही हैं।

रेलमंत्री ने आगे लिखा कि लोको पायलटों के ड्यूटी घंटों की सावधानीपूर्वक निगरानी की जाती है। यात्राओं के बाद विश्राम सावधानीपूर्वक प्रदान किया जाता है।

वैष्णव ने बताया कि इस वर्ष जून माह में औसत 8 घंटे से भी कम है। केवल अत्यावश्यक परिस्थितियों में ही यात्रा की अवधि निर्धारित घंटों से अधिक होती है।

उन्होंने कहा कि पायलट लोको कैब से इंजन चलाते हैं। 2014 से पहले कैब की हालत बहुत ख़राब थी। 2014 के बाद से, एर्गोनोमिक सीटों के साथ कैब में सुधार किया गया है।

रेल मंत्री ने कहा कि जब पायलट यात्रा पूरी करते हैं, तो मुख्यालय से बाहर होने पर वे आराम के लिए रनिंग रूम में आते हैं। 2014 से पहले रनिंग रूम की हालत बहुत ख़राब थी।

उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में, बड़ी भर्ती प्रक्रिया पूरी की गई और 34,000 रनिंग स्टाफ की भर्ती की गई है। वर्तमान में 18,000 रनिंग स्टाफ की भर्ती प्रक्रिया चल रही है।

PM Modi के एक्स पर हुए 100 मिलियन फॉलोअर्स

सरकार में मंत्री छगन भुजबल से मुलाकात के दो दिन बाद Sharad Pawar ने तोड़ी चुप्पी

Shah ने कांग्रेस पर कसा तंज, कहा - 'बनिया का बेटा हूं, पाई-पाई का हिसाब लेके चलता हूं'

Webstories.prabhasakshi.com Home