अब दंड की जगह होगा न्याय, क्रिमिनल लॉ में होंगे बड़े-बड़े बदलाव - Amit Shah

केंद्रीय गृह मंत्री एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने नई दिल्ली में संसद पुस्तकालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया।

देश में तीनों नए आज यानी एक जुलाई से कानून लागू हो गए हैं और इसको लेकर गृह मंत्री ने कहा कि देश की जनता को मैं बहुत-बहुत बधाई देना चाहता हूं।

उन्होंने कहा कि आजादी के 77 साल बाद आपराधिक न्याय प्रणाली पूर्णतया स्वदेशी हो रही है और भारतीय Ethos के आधार पर चलेगी। 75 साल बाद इन कानूनों पर विचार हुआ।

गृहमंत्री ने कहा कि ये कानून जब आज से हर थाने में अपना काम करना चालू करेंगे तब अंग्रेजों के बनाएं हुए कानून निरस्त होंगे और भारत की ससंद में बनाए गए कानून आएंगे।

अमित शाह ने कहा कि दंड की जगह न्याय लेगा, देरी की जगह स्पीडी ट्रायल और स्पीडी जस्टिस मिलेगा।

उन्होंने कहा कि इस नए नजरिए के साथ ये तीनों कानून देश में लागू हुए हैं। कानून के अंदर हमने व्याख्या के तौर पर समाहित किया है

ये विश्व की सबसे आधुनिक न्याय प्रणाली बनेगी। इसका मुझे विश्वास है। कंप्यूटराइजेशन की प्रक्रिया पूरी हो गई है। 99.9 प्रतिशत थाने कंप्यूटराइजड हो चुके हैं।

PM Modi के एक्स पर हुए 100 मिलियन फॉलोअर्स

सरकार में मंत्री छगन भुजबल से मुलाकात के दो दिन बाद Sharad Pawar ने तोड़ी चुप्पी

Shah ने कांग्रेस पर कसा तंज, कहा - 'बनिया का बेटा हूं, पाई-पाई का हिसाब लेके चलता हूं'

Webstories.prabhasakshi.com Home