जानिए क्या होते हैं हरिकेन, जिसके कारण बारबाडोस में फंसी है भारतीय टीम

तूफान बेरिल के कारण भारतीय टीम टी20 विश्वकप जीतने के बाद भी बारबाडोस में ही फंसी हुई है

बारबाडोस में आया तूफान बेरिल प्रारंभिक श्रेणी 4 का तूफान है, जिसमें 209 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलती है

इस बार ये विंडवार्ड द्वीप समूह, लेसर एंटिलीज़ के दक्षिणी भाग से होकर गुजर रहा है

तूफान ईंधन के रूप में गर्म, नम हवा का उपयोग करते हैं और भूमध्य रेखा के पास गर्म समुद्री जल के ऊपर बनते है

तूफ़ान ज़मीन पर आते ही कमजोर होते है और महासादरों की नमी से कटते है

आमतौर पर टाइफून और चक्रवात में कोई फर्क नहीं होता है। ये निर्भर करता है वो कहां आते है

अटलांटिक महासागर या पूर्वी प्रशांत महासागर में हरिकेन बनते है और उत्तर-पश्चिमी प्रशांत महासागर में टाइफून बनते है

वैज्ञानिकों ने चंद्रमा पर गुफा होने की पुष्टि की

सूर्य के चक्कर नहीं लगाती है धरती, नासा ने किया ऐलान

पाकिस्तान में महंगाई की मार जारी, पेट्रोल डीजल के दाम बढ़े

Webstories.prabhasakshi.com Home