बसपा सुप्रीमो Mayawati ने कांग्रेस के संविधान बचाओ को नाटक करार दिया

मायावती संविधान बचाने के मुद्दे पर विपक्ष व सत्ता पक्ष दोनों पर हमलावर हुईं। उन्होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस मिलीभगत कर बाबा साहेब के संविधान को बदलने में जुटे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि ये सब एक ही थाली के चट्टे-बट्टे है। लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार मायावती ने इतने तीखे तेवरों के साथ भाजपा-कांग्रेस और अखिलेश पर निशाना साधा है।

मायावती ने कहा कि संविधान विरोधी दलों की जब केंद्र में सरकार रही तो उन्होंने इसमें इतने संशोधन कर दिए कि अब यह बाबा साहेब भीमराव....

.... जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों को शिक्षा और नौकरी में आरक्षण का लाभ न मिले या फिर यह निष्प्रभावी रहे इसकी कोशिश की जा रही है।

बसपा सुप्रीमो ने कहा जब मंडल कमीशन की रिपोर्ट तत्कालीन प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह ने लागू की तो इसका कांग्रेस और भाजपा ने विरोध भी किया था।

मायावती ने सपा पर भी निशाना साधा और कहा कि खुद को अनुसूचित जाति और जनजाति का हितैषी बता रही सपा ने पदोन्नति में आरक्षण लागू नहीं होने दिया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा तथा अन्य पार्टियों की सरकार गरीबी, बेरोजगारी और महंगाई से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए संविधान बचाने का नाटक कर रही हैं।

हरियाणा में Sunita Kejriwal ने संभाला मोर्चा, चुनाव से पहले AAP ने लॉन्च की 5 गारंटी

झारखंड में Amit Shah का आरोप - 'घुसपैठियों को संरक्षण दे रहे हेमंत सोरेन'

उद्धव ठाकरे का दावा, सत्ता में आने पर धारावी स्लम पुनर्विकास परियोजना का टेंडर होगा रद्द

Webstories.prabhasakshi.com Home